newsdog Facebook

नम आंखों से माता रानी को दी विदाई

Patrika 2019-10-10 17:34:52

मंडला। नवरात्र की नवमीं से दुर्गा प्रतिमाओं को विसर्जन शुरू हो गया जो कि शरद पूर्णिमा तक जारी रहेगा। नवरात्रि के नौ दिन मां जगत जननी की आरती, पूजा, उपासना के बाद मां को विदाई दी गई। सिंधी समाज द्वारा गुरूद्वारे में स्थिापित प्रतिमा के विसर्जन के पूर्व सिंधु नवयुवक मंडल एवं पूज्य सिंधी पंचायत के तत्वावधान में विशाल शोभायात्रा निकाली गई। रंगारंग प्रस्तुति के साथ यात्रा सिंधु भवन से प्रारंभ होकर पड़ाव, चिलमन चौक, उदय चौक होते हुए विसर्जन स्थल पहुंची। शोभायात्रा में समाज के सभी वर्ग के सदस्यों ने बढ़ चढकऱ हिस्सा लिया। जगह जगह भंडारे का आयोजन किया गया।
देवी प्रतिमाओं की मनोहारी झांकियों को चल समारोह के रूप में निकाला गया। इस चल समारोह को देखने के लिए आसपास के क्षेत्र से भारी संख्या में लोग आए हुए थे। सडक़ के दोनों ओर चल समारोह देखने के लिए लोगों की भीड़ एकत्रित थी। यह चल समारोह नगर के प्रमुख मार्गों से होकर सीधा नाव घाट पर बनाए गए कृत्रिम कुण्ड तक पहुंचा। यहां पर एक के बाद एक करके प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। दशहरा के चल समारोह को देखते हुए शाम 6 बजे से प्रशासन ने शहर के अंदर वाहनों का प्रवेश रोक दिया था। इसके साथ ही हर प्रमुख चौराहों पर पुलिस की विशेष व्यवस्था की गई थी। वहीं किसी भी घटना और दुर्घटना से निपटने के लिए बज्र वाहन के साथ ही अन्य साजो सामान तैयार किए गए थे। विसर्जन कुण्ड पर अनहोनी रोकने के लिए प्रशासन ने के्रन मशीन से बडी प्रतिमाओं का विसर्जन कराया। इसके साथ ही नाव का सहारा लेकर कुण्ड के बीच में छोटी प्रतिमाओ को विसर्जित किया गया।
नैनपुर. नगर में शारदेय नवरात्र पर्व भक्तिमय वातावरण के बीच संपन्न हुआ मंगलवार को जगह जगह पर विराजमान माता की प्रतिमाओं के विसर्जन के पूर्व श्रद्वालुओ द्वारा हवन पूजन कर कन्याभोज कराया व नगर के लोगो के द्वारा जगह-जगह भण्डारे भी बांटे गए। इसके बाद शाम होते ही पंडालो की प्रतिमा विसर्जन के लिए निकाली गई। धूमधाम के साथ बैंड बाजे आतिशबाजी के साथ नगर भ्रमण करते हुए थांवर नदी के पास बने सुरक्षा की दृष्टि से आधुनिक तकनीक के्रन व झूले के माध्यम से कुंड में माता-रानी का विसर्जन किया गया। विसर्जन के दौरान एसडीएम रीता डेहरिया, तहसीलदार कांती लाल विश्नोई, नायब तहसीलदार शीतल चन्द्रवंशी, नपा सीएमओ हेमेश्वरी पटले, एसडीओपी पुरुषोत्तम सिंह मरावी, थाना प्रभारी राजेन्द्र मोहन दुबे अपने बल के साथ व नपा कर्मचारी तैनात रहे।
बबलिया . स्थानीय देवरी कला बबलिया एवं आसपास के क्षेत्रो में नवरात्री पर्व धूम धाम से मनाया गया। जहां विजय दशमी में चल समारोह में स्थानीय बस स्टेंड दुर्गामंच दुर्गाउत्सव समिति के युवामण्डल के कार्यकर्ताओ के द्वारा भव्य जुलूस निकालकर के मां नर्मदा में विसर्जन किया गया। वेद मंत्रो के साथ पंडित शास्त्री गोवर्धन पाण्डेय के द्वारा विधि पूर्वक पूजन कराया गया। इस दौरान घनश्याम सेन, मनीष नामदेव, दिनेश यादव, कमलेश यादव, गिददू चावला, सतेन्द्र गुप्ता, नारायणं गुप्ता, संजय सोनी, राजू भवेदी, धरमसिंह धुर्वे, संदीप जयसवाल, गुडडू जयसवाल, सचिन, अभिषेक, नारायण गुप्ता, अमित यादव, सौरभ यादव सहित ग्रामीणों का सहयोग रहा।
भाईबहिननाला. दशहरा पर्व पर सांस्कूतिक कार्यक्रम चन्दगांव में सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम आयोजक अध्यक्ष डॉ हीरा सिंह उइके के अतिथ्यि में आयोजित किया गया। इस दौरान ग्रामीणों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। कार्यक्रम में पूर्व विधायक पंडित सिंह धुर्वे, कीर्तन लाल झारिया, अक्षय परते, रतन पड़वार, हलकारी दास परवार, केवल सिंह, हरे सिंह पन्द्रे, चंदन पड़वार, कन्हैया दास पड़वार, पूर्व जनपद सदस्य दाऊ राम, पूर्व सरपंच अनिता उइके, राम सिंह उइके आदि उपस्थित रहे। मोतीनाला के मां शेरावाली मंदिर में नवरात्र पर्व पर विभिन्न अनुष्ठान किए गए। इस अवस पर 101 कलशों की स्थापना की गई थी। नवमीं के दिन कन्याभोजन के बाद भंडारा का वितरण किया गया।
चौरसिया समाज द्वारा लगभग 61 सालों से माता जी की स्थापना की जाती है। बताया गया कि 1959 में युवाओं ने इसका आरम्भ किया और समय के साथ साथ सामाजिक लोग आगे आते गए और जुड़ते गए। चौरसिया समाज द्वारा स्थापित माता की प्रतिमा का अपना अलग महत्व है। नवरात्रि में समाज के महिला वर्ग द्वारा विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। जिसमें सभी बढ़ चढ़ कर सहयोग और हिस्सा लेते है। इस वर्ष भी समाज द्वारा धार्मिक और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए गए। जिसमें बच्चों द्वारा डांडिया, महिलाओं द्वारा गरवा और देवी स्तुति में बंगाली नृत्य की शानदार प्रस्तुति दी गई। स्वच्छता और पर्यावरण सुरक्षा का संदेश दिया तथा डिस्पोजल आदि के उपयोग न करने का संकल्प लिया। बुधवार को माता जी की विदाई की गई।