newsdog Facebook

ठंड की चपेट में आया पूरा उत्तर भारत, घरों में कैद हुए लोग

UPUK Live 2019-12-02 19:22:12

ठंड की चपेट में आया पूरा उत्तर भारत, घरों में कैद हुए लोग

By UPUK LIVE Mon, 2 Dec 2019

नई दिल्ली। दिनों दिन जम्मू-कश्मीर, लद्दाख और हिमाचल जैसे पहाड़ी राज्यों में लगातार हो रही बर्फबारी के चलते पूरा उत्तर भारत ठंड की चपेट है। जंहा कई इलाकों में पारा शून्य से नीचे पहुंच गया है। वहीं बर्फबारी की वजह से ठंड ने पंजाब, हरियाणा और दिल्ली जैसे मैदानी इलाकों को भी अपनी चपेट में ले लिया है। रविवार सुबह राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में ठंडी हवाएं चलीं और पारा 9.4 डिग्री सेल्सियस गिर गया। रविवार सुबह राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में ठंडी हवाएं चलीं और पारा 9.4 डिग्री सेल्सियस गिर गया।

लद्दाख के लेह में पारा माइनस 13.2 सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, जो इस सीजन की सबसे ठंड रात थी। इसी तरह श्रीनगर में पारा माइनस 0.9 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया। उत्तर कश्मीर का गुलमर्ग माइनस 8 डिग्री सेल्सियस के साथ पूरे घाटी में सबसे ठंड रहा। जम्मू में न्यूनतम तापमान 8.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

जम्मू क्षेत्र में आने वाले कटरा जिले का पारा 7.8 डिग्री सेल्सियस रहा। पांच दिन हुई बर्फबारी के बाद रविवार को घाटी में लोगों को धूप के दर्शन हुए। 434 किलोमीटर लंबा श्रीनगर-लेह राष्ट्रीय राजमार्ग भारी बर्फबारी की वजह से 27 नवंबर से बंद है। इस राजमार्ग पर यातायात बहाल करने के प्रयास चल रहे हैं। जबकि, बर्फ की वजह से मुगल रोड पिछले महीने 6 नवंबर से बंद है। पड़ोसी राज्य हिमाचल प्रदेश में भी कड़ाके की ठंड पड़ रही है। माइनस 12.3 डिग्री सेल्सियस के साथ लाहौल स्फीति इस पहाड़ी राज्य का सबसे ठंडा इलाका रहा। किन्नौर में पारा माइनस 3.4 जबकि मनाली में पारा माइनस 1 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। 

पंजाब के अमृतसर जिले का न्यूनतम तापमान 7.8, जबकि अधिकतम 22.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर सबसे ठंडा जिला रहा। लखनऊ का न्यूनतम तापमान 13.1 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। मौसम विभाग ने अगले दो दिनों तक पंजाब और हरियाणा में कोहरे की चेतावनी दी है।  रविवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान 23.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, जो सामान्य से 2 डिग्री सेल्सियस कम था। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के मुताबिक, रविवार को दिन में धूप खिली हुई थी, लेकिन वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 275 रिकॉर्ड किया गया जो 'खराब' की श्रेणी में आता है।