newsdog Facebook

विराट बोले, उन्हें ही नहीं, सबको रहता है शमी की गेंदबाजी का इंतजार

Patrika 2019-12-02 19:23:00

नई दिल्‍ली : वर्तमान भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण का खौफ दुनिया के हर देश की टीम में छाया हुआ है। इस दबदबे का कारण यह है कि टीम इंडिया के पांच तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा, उमेश यादव और भुवनेश्वर कुमार एक साथ खतरनाक गेंदबाजी कर रहे हैं। कप्तान विराट कोहली भी टीम इंडिया के शानदार प्रदर्शन का श्रेय अपने तेज गेंदबाजों को देते हैं और वह उनकी जमकर तारीफ करते हैं। उन्होंने अपनी तेज गेंदबाजी आक्रमण को स्वप्निल संयोजन करार दिया। उनका मानना है कि यह तेज गेंदबाजी आक्रमण किसी भी पिच पर विपक्षी टीम का मटियामेट कर सकती है। इसमें भी उन्हें मोहम्मद शमी पर सबसे ज्यादा भरोसा है। वह उनकी अलग से तारीफ करते हैं। उन्होंने कहा कि शमी की स्पेल का सिर्फ उन्हें नहीं सबको इंतजार रहता है।

चयन समिति पर गिरी गांगुली की गाज, एक साथ खत्म किया पांचों चयनकर्ताओं का कार्यकाल

शमी के स्‍पैल का सब करते हैं इंतजार

कोहली ने कहा कि वर्तमान तेज गेंदबाज काफी खतरनाक हैं। इसकी वजह यह है कि ये सभी मिलकर विपक्षी टीम पर धावा बोलते हैं और उन पर लगातार दबाव बनाए रखते हैं। उन्होंने कहा कि अगर ईमानदारी से कहा जाए तो पिछले दशक में सिर्फ जहीर खान ऐसे थे, जिन पर भरोसा किया जा सकता है। उन्होंने ईशांत शर्मा का जिक्र करते हुए कहा कि हालांकि वह भी उस टीम में थे, लेकिन जैसे वह आज हैं, तब वह वैसे नहीं थे। विराट ने आगे कहा कि उन्हें भरोसा है कि अगर जहीर खान अब के ईशांत को देखेंगे तो वह उनके साथ जरूर गेंदबाजी करना चाहेंगे। कोहली ने कहा कि इशांत उमेश के साथ नई गेंद लेकर आता है। इसके बाद मोहम्मद शमी आता है। स्लिप में खड़े हम सब लोगों के साथ बल्‍लेबाज को भी इस गेंदबाज का इंतजार रहता है कि उनका स्पेल कब शुरू होगा और कब खत्‍म होगा। वह जिस तरह से गेंद डालते हैं, दुनिया के किसी भी पिच पर कमाल कर सकते हैं।

बीसीसीआई एजीएम में पास हुए कई संशोधन, गांगुली का बढ़ सकता है कार्यकाल

भारतीय तेज गेंदबाजों में आपस में जलन नहीं

एक टीवी चैनल से बात करते हुए कोहली ने कहा कि टीम इंडिया के तेज गेंदबाजों में आपस में गहरी दोस्ती है। वह घुलमिलकर रहते हैं। इनके बीच जबरदस्त प्रतिस्पर्धा होने के बावजूद इनमें काफी भाईचारा है। एक-दूसरे को लेकर असुरक्षा और जलन का भाव नहीं है। यही उनका सबसे मजबूत पक्ष है। उन्होंने कहा कि टीम में ईशांत सबसे वरिष्ठ हैं, लेकिन सबसे ज्यादा उसकी खिंचाई होती है। जसप्रीत शर्मीला है, लेकिन हाजिर जवाब है। उसकी टाइमिंग कमाल की है। भुवनेश्‍वर कुमार खुलकर मजाक करते हैं। वहीं शमी बहुत जल्दी सबमें घुलमिल जाता है। ऐसा ही उमेश भी हैं।