newsdog Facebook

बैंकों के वित्तीय लेन-देन में गिरावट

Patrika 2020-03-25 22:32:41

मुरैना. कोरोना वायरस के संक्रमण की आशंका को देखते हुए लॉकडाउन की घोषणा के बाद बैंकों में वित्तीय लेन-देन का काम आधा भी नहीं रहा, क्योंकि एक तो बैंकों के खुलने का समय घटा दिया गया है, दूसरे लोग घरों से निकलकर बैंक तक नहीं पहुंच पा रहे हैं।

लॉकडाउन की घोषणा के बाद संचालनालय संस्थागत वित्त भोपाल द्वारा 23 मार्च को जारी आदेश के मुताबिक बैंकों को सुबह 10 से दोपहर 2 बजे तक ही खोला जा रहा है। इस समय वहां सिर्फ चार तरह के काम हो रहे हैं। इनमें नकद लेन-देन के अलावा चेक क्लियरेंस, सरकारी ट्रांजेक्शन और एनईएफटी, आरटीजीएस शामिल हैं, चूंकि लॉकडाउन के दौरान लोगों को घर पर ही रहने के निर्देश जारी किए गए हैं, इसलिए लोग बेहद जरूरी होने पर ही बैंक की शाखाओं तक जा रहे हैं। यही वजह है कि इन दिनों बैंकों में वित्तीय लेन-देन का काम आधा रह गया है। जब तक लॉकडाउन चलेगा, तब तक यही स्थिति रहने की संभावना है।

सिर्फ पांच लोगों को प्रवेश

संक्रमण से सुरक्षा की दृष्टि से बैंकों में भीड़ कम करने के निर्देश भी सरकार ने जारी किए हैं। यही वजह है कि बैंक परिसरों में एक बार में सिर्फ पांच लोगों को ही प्रवेश दिया जा रहा है। जब इन लोगों का काम पूरा हो जाता है, उसके बाद अगले पांच व्यक्तियों को बैंक में प्रवेश दिया जा रहा है।

सेनिटाइजेशन पर भी जोर

सभी राष्ट्रीयकृत, प्राइवेट व सहकारी बैंकों में इस समय सेनिटाइजेशन पर भी जोर दिया जा रहा है। इसके लिए बैंक के मुख्य द्वारों पर तैनात रहने वाले सुरक्षा कर्मियों को सेनेटाइजर थमा दिए गए हैं। ये लोग किसी भी व्यक्ति के हाथों को सेनिटाइज करने के बाद ही प्रवेश करने दे रहे हैं।