newsdog Facebook

नाराज ब्राह्मणों को मनाने के लिये मुख्यमंत्री ने उतारे ब्राह्मण मंत्री

Patrika 2020-07-16 19:39:32

लखनऊ। कानपुर के दुर्दान्त विकास दुबे की पुलिस मुठभेड़ में मरने के एक सप्ताह बाद जब social media पर BJP Government की किरकिरी बढ़ी तो डैमेज कंट्रोल को रोकने के लिये सरकार ने अपने ब्राह्मण नेताओं को उतारा दिया। आज Cabinet Minister Brajesh Pathak ने कहा कि Notorious criminal Vikas Dubey के मारे जाने के बाद कुछ लोग सरकार को बदनाम करने की साजिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने मामले की न्यायिक जांच के आदेश दे दिए हैं, हालांकि social media पर ब्राह्मणों के नाम पर फर्जी अकाउंट बनाकर सरकार के खिलाफ कमेंट किया जा रहा है। पाठक ने कहा जहां तक कानपुर के विकास दुबे एनकाउंटर (मुठभेड़) का मामला है, राज्य सरकार ने मामले की न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं। हालांकि social media पर ब्राह्मणों के नाम पर फर्जी अकाउंट बनाकर सरकार को बदनाम करने का काम किया जा रहा है। परंतु जनता जागरूक है।
उन्होंने कहा कि सपा और कांग्रेस हमारी सरकार पर ब्राह्मण विरोधी होने का आरोप लगा रही हैं। अच्छा होता कि ये पार्टियां अपने गिरेबान में झांक कर देख लेतीं कि Bharatiya Janata Party को ब्राह्मणों का समर्थन पार्टी के गठन के पहले दिन से ही प्राप्त है और आज भी ब्राह्मणों का समर्थन भारतीय जनता पार्टी सरकार को ही है। पाठक ने दावा किया कि बौखलाहट में ये पार्टियां अनावश्यक मुद्दे को भड़काने का काम कर रही हैं। Chief Minister Yogi Adityanath केे गृह जनपद गोरखपुर में बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार सतीश द्विवेदी ने भी विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा कि अपराधी की कोई जाति नहीं होती। लेकिन वोट बैंक की राजनीति के लिए विपक्ष जमकर ओछी राजनीति कर रहा है। उन्‍होंने कहा कि Vikas Dubey ने जितने लोगों की हत्‍या की संयोग से उनमें से अधिकतर ब्राह्मण हैं।

यदि वे ब्राह्मण नहीं भी होते तो भी उसका अपराध कम नहीं हो जाता। एक अपराधी किसी की सहानुभूति का पात्र नहीं होता। बरसों-बरस जाति की राजनीति करते रहे लोग विकास दुबे के बहाने अपना उल्‍लू सीधा करना चाहते हैं। social media पर कई गैर ब्राह्मण, ब्राह्मण बनकर तो कई गैर क्षत्रिय, क्षत्रिय बनकर नफरत वाले पोस्‍ट डाल रहे हैं। ऐसा जानबूझकर किया जा रहा है। पार्टी सूत्रों की मानें तो दुर्दान्त Vikas Dubey की कृत्य का कोई समर्थन नहीं करता। बिकरु गांव की घटना के बाद पुलिस ने जब Vikas Dubey का मकान ध्वस्त किया और मध्यप्रदेश की पुलिस से कस्टडी में लेने के बाद मुठभेड़ में हुई मौत से सोसल मीडिया पर BJP Government और संगठन पर हमला बढ़ गया। ब्राह्मण मुख्यसचिव, अपरमुख्यसचिव गृह, डीजीपी और कई ब्राह्मण मंत्री के बाद भी ब्राह्मणों में भाजपा पर हमला बढ़ गया था। इससे पार्टी दबाव में आ गयी थी।