newsdog Facebook

Ahmedabad News : शिवभक्तों के प्रिय बाजोठिया महादेव पर कोरोना का साया

Patrika 2020-08-09 22:39:22

- राजेन्द्र धारीवाल

पालनपुर. उत्तर गुजरात के बनासकांठा जिले में प्राकृतिक सौंदर्य के बीच शिवभक्तों का प्रिय व पांडवकालीन चमत्कारिक स्वयंभू बाजोठिया महादेव शिवालय स्थित है। जिला मुख्यालय पालनपुर से मात्र 20 किलोमीटर दूर अंबाजी मार्ग पर स्थित यह शिवालय अरवल्ली की गिरिकंदराओं के बीच में स्थित है।
बाजोठिया महादेव शिवालय का इतिहास पौराणिक होने के साथ ही यह शिवालय एतिहासिक महत्व वाला भी है। लोककथा के अनुसार अज्ञातवास के दौरान पांडव इस क्षेत्र में पहुंचे और बाजोट पर भगवान शिव की पूजा की। परिणामस्वरूप इस स्थान का नाम बाजोठिया महादेव पड़ा। भीम ने इस स्थान पर विशेष पूजा-अर्चना की थी।
श्रावण मास में उत्तर गुजरात सहित दूर-दूर से शिवभक्त इस बाजोठिया महादेव के शिवालय में दर्शन, पूजा के लिए पहुंचते और शिवलिंग पर बिल्वपत्र अर्पित कर जलाभिषेक कर धन्यता का अनुभव भी करते थे। इस वर्ष कोरोना वायरस के संक्रमण का साया ऐसा पड़ा है कि यह शिवालय भी सूना रहता है। मंदिर प्रशासन की बंदिशों व कोरोना संक्रमण का भय इस वर्ष श्रावण मास के दौरान श्रद्धालुओं को मंदिर तक नहीं पहुंचने दे रहा।

जीणोद्धार कार्य जारी, 20 फीट ऊंची मूर्ति व यज्ञ कुटीर का निर्माण भी शीघ्र

फिलहाल इस शिवालय में जीर्णोद्धार कार्य चल रहा है। मंदिर के विकास के लिए मंदिर ट्रस्टी, पालनपुर के व्यापारी, विकास समिति के सदस्यों के प्रयत्नों व दिन-रात मेहनत से अल्प समय में मंदिर को नया रूप प्रदान करना संभव हो सकेगा। बच्चों के खेलने के लिए चिल्ड्रन पार्क, बैठक व्यवस्था, नवीन रसोईघर व हॉल का निर्माण करवाया गया है। आगामी दिनों में भगवान शिव की 20 फीट ऊंची मूर्ति व यज्ञ कुटीर के निर्माण का कार्य शुरू करवाया जाएगा।