newsdog Facebook

उत्तर प्रदेश: रेप के आरोपी इलाहाबाद हाईकोर्ट से पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति को मिली जमानत, 3 महीने की राहत

Haribhoomi 2020-09-04 14:20:31
X

दुष्कर्म के आरोपी और उत्तर प्रदेश सरकार में पूर्व मंत्री रहे गायत्री प्रसाद प्रजापति को इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने आज जमानत दे दी है। उन्हें 3 महीने की जमानत दी है। उन्होंने जमानत के लिए अंतरिम याचिका कोर्ट में दायर की थी।


मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति को 3 महीने की जमानत दे दिया है। इस दौरान वह देश छोड़कर नहीं जा सकते हैं। कोर्ट ने गायत्री प्रसाद प्रजापति को 5 लाख के बांड और दो लोगों की जमानत पर जमानत दी है।


इलाहाबाद हाईकोर्ट में कोरोना महामारी की वजह से अंतरिम जमानत याचिका दी थी। कानपुर के एक अस्पताल में उनका इलाज किया जा रहा है। पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति ने गुरुवार को कोर्ट में केजीएमयू में कोरोनोवायरस के संकुचन के जोखिम का हवाला देते हुए जमानत मांगी।



जिसमें संक्रमण से पीड़ित कई मरीजों का इलाज चल रहा है। प्रजापति एक महिला के साथ बलात्कार करने और उसकी नाबालिग बेटी से छेड़छाड़ करने का आरोप लगे थे। अभी वह लखनऊ जेल में बंद है। उनका किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में इलाज करवा रहे हैं।


रिपोर्ट के एक अन्य हिस्से का हवाला देते हुए प्रजापति के वकील ने दावा किया कि कोरोनावायरस को अनुबंधित करने वाले भर्ती हैं। अदालत ने एजीए को सुनवाई की अगली तारीख 4 जून तक स्थिति स्पष्ट करने का निर्देश दिया। चित्रकूट की एक महिला कॉरपोरेटर ने आरोप लगाया था कि प्रजापति और उनके सहयोगियों ने 2014 में उनकी नाबालिग बेटी के साथ बलात्कार करने का प्रयास किया था। प्रजापति और छह अन्य को 2017 में इस मामले में गिरफ्तार किया गया था।