newsdog Facebook

UP और Tamilnadu में Housing electronic parts निर्माण की गति में हुई बढ़त

Gyan Hi Gyan 2020-09-16 12:29:51

आज के समय में अधिकारियों की मानें तो विकास के साथ में तमिलनाडु और उत्तर प्रदेश नए मोबाइल और इलेक्ट्रॉनिक घटक विनिर्माण इकाइयों की स्थापना के लिए कंपनियां अधिक दिलचस्पी ला रही हैं। तमिलनाडु में मोबाइल और मोबाईल डिवाइस से संबंधित घटकों के विनिर्माण के लिए कई सारे लॉजिस्टिक इंफ्रास्ट्रक्चर स्थापित किए है। Apple के निर्माता द्वारा भी इन क्षेत्रों को अधिक पसंद किया जा रहा है , अन्य उत्पादन लिंक्ड इंसेंटिव (PLI) योजना के आवेदक, नोएडा और आसपास के स्थानों के लिए स्काउटिंग को जारी कर रहे हैं।

जब हम बात करते हैं इन दोनों राज्यों की यहाँ पर पहले से ही मोबाइल निर्माण के लिए आवश्यक बुनियादी लॉजिस्टिक और अन्य बुनियादी ढाँचे उपलब्ध हो रखें हैं। जिसमें अतिरिक्त तोर पर टैक्स में कमी ब्रेक और शुरुआती कार्यशैली के साथ में सेटिंग के साथ – साथ अन्य आकर्षक प्रोत्साहन को भी कंपनी के द्वारा पेश किया जा रहा है। एक अधिकारी ने कहा कि इन राज्यों में प्रशिक्षित श्रमिकों की उपलब्धता ने उन्हें बेहतर बनने में काफी मदद को किया है , ताकि इसमें मौजूदा इकाइयों का अलग से पूरा विस्तार किया जा सके।

वहीं दूसरी तरफ सैमसंग और साथ ही ऐप्पल के निर्माताओं ,फॉक्सकॉन , पेगाट्रॉन और विंस्टन सहित 22 वैश्विक और भारतीय मोबाइल हैंडसेट निर्माताओं के साथ-साथ अन्य भी कई सारे आवेदकों में से एक इन्हें माना जाता हैं। जिसमें इतना ही नहीं फोनमेकर्स के अलावा इसमें लगभग 40 इलेक्ट्रॉनिक घटक निर्माताओं ने पीएलआई योजना के तहत नई इकाइयों को स्थापित करने या मौजूदा संयंत्रों का विस्तार करने के लिए कई सारे आवेदन कार्य को पूरा किया है।

हालाकी सरकार के द्वारा अप्रैल में नई पीएलआई योजना को अधिसूचित किया गया है, जिसके अन्तर्गरत नए मोबाइल और उपकरण निर्माण इकाइयों को स्थापित करने पर अधिक से अधिक ध्यान देकर वर्तमान इकाइयों का विस्तार करने वाली कंपनियों को भारत में एक अच्छी बिक्री पर 4 से 6 प्रतिशत का प्रोत्साहन मिलेगा यह घोषणा सरकार के द्वारा पहले की गई है।