newsdog Facebook

Bihar Assembly Elections 2020: नीतीश कुमार बोले- आज महिलाएं किसी पर आश्रित नहीं, खुद कर रही भरण पोषण

Haribhoomi 2020-10-16 13:30:02
X

Bihar Assembly Elections 2020: सीएम एवं जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार ने गया के इमामगंज में शुक्रवार को जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि इमामगंज से उनका पुराना लगाव है। उन्होंने कहा कि शुरुआत से ही इमामगंज के लोगों ने उन्हें प्रेम और सम्मान दिया है। इस दौरान उन्होंने लालू यादव की पूर्व सरकारों को भी निशाने पर लिया। नीतीश कुमार ने कहा कि 15 साल से हमें काम करने का मौका मिला है। हमारे पहले पति-पत्नी को राज करने का मौका मिला था। नीतीश कुमार ने कहा कि उनके राज में बिहार में कानून का राज नहीं था। आपराधिक घटनाएं होती थी। नीतीश कुमार ने कहा कि जब बिहार ने हमें मौका दिया, तब से हम सेवा कर रहे हैं। पहले जो स्थिति थी व आज जो स्थिति है, उसमें बहुत अंतर है।



जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार ने कहा कि आज बिहार में महिलायें आगे बढ़ रही हैं। नीतीश कुमार ने कहा कि मुज़्ज़फरपुर की महिलाओं से प्रेरणा लेकर एवं उनसे बात करके उनकी सरकार द्वारा वर्ड बैंक से कर्ज लिया गया। जिसके बाद बिहार में उसी कर्ज के बल पर जीविका समूहों का गठन किया गया। नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में आज महिलाएं जागृत हैं। अनपढ़ महिलाएं भी अब किसी पर आश्रित नहीं हैं। खुद कमाकर अपना व परिवार का भरण पोषण कर रही हैं।


मुज़्ज़फरपुर की महिलाओं से प्रेरणा लेकर उनसे बात करके हमने @WorldBank से कर्ज लेकर प्रदेश में जीविका समूहों का गठन किया। आज महिलाएं जागृत हैं, अनपढ़ महिलाएं भी अब किसी पर आश्रित नहीं है। खुद कमाकर अपना और परिवार का भरण पोषण कर रही हैं।

-श्री @NitishKumar जी pic.twitter.com/fkCafsPenR

— Janata Dal (United) (@Jduonline) October 16, 2020


वहीं नीतीश कुमार ने कहा कि गया की महिलाओं से मिलने का मौका मिला। देखकर आश्चर्य हुआ, कई महिलाएं निरक्षर थी। लेकिन वो जीविका समूहों के द्वारा मेहनत कर दम पर अपना और दूसरों का भी आय बढ़ा रही हैं। नीतीश कुमार ने कहा कि गांव-गांव में एक-एक परिवार की सहयोगिता से आज हमने बिहार का बहुमुखी विकास किया है। प्रति व्यक्ति आमदनी में साढ़े दस प्रतिशत की सालाना वृद्धि हुई है।

नीतीश कुमार ने कहा कि हर क्षेत्र में चाहे वह सड़क हो, शिक्षा हो, स्वास्थ्य हो, बिजली हो, पानी हो, हर क्षेत्र में हमने काम किया है। विकास किया है। प्रत्येक टर्म में हमने अपने ही पिछले 5 वर्षों से कुछ ज्यादा करने की कोशिश की है।