newsdog Facebook

WHO का 4 सूत्री फरमान, कहा- अपनी हिफाजत खुद करें, लॉकडाउन हटा है, कोरोना नहीं गया है

Policenama Hindi 2020-10-16 13:11:43

नई दिल्ली. ऑनलाइन टीम – विश्व स्वास्थ्य संगठन ( ड्ब्ल्यूएचओ) ने कोरोना को लेकर फिर चेतावनी और सलाह जारी की है। संगठन का कहना है कि कोरोना वायरस शायद लंबे समय के लिए रह सकता है। डब्ल्यूएचओ ने कोविड-19 के छह महीने के मूल्याकंन पर इमरजेंसी कमिटी से मुलाकात के बाद ऐसा कहा। इस कमिटी में 17 सदस्य और 12 सलाहकार हैं और सभी लोगों का कहना है कि ये महामारी अभी भी अंतरराष्ट्रीय मामलों में सार्वजनिक स्वास्थ्य इमरजेंसी की श्रेणी में रखी जाएगी। कोरोना वायरस को रोकने के लिए उन्होंने 4 कदमों को जरूरी बताया और कहा कि लोगों को अपनी सुरक्षा खुद करनी होगी। इसलिए मुख्य रूप से इन 4 बातों को जीवन का अभी अंग बना ही रहने दें।


भीड़-भाड़ को रोकना जरूरी : लॉकडाउन अब भले ही नहीं, लेकिन धार्मिक स्थल, ऑफिस, नाइट क्लब, खेल स्टेडियम, जैसी जगहों पर भीड़ इकट्टी होने से रोकना है। इसके कारण संक्रमण अधिक फैल सकता है।

सार्वजनिक स्वास्थ्य : सार्वजनिक स्वास्थ्य पर ध्यान देना, हमारी पहली प्राथमिकता होनी चाहिए। कोरोना मरीजों की पहचान, लोगों की जांच, मरीज का आइसोलेशन और संपर्क में आए लोगों को ढूंढ कर जरूरी कदम उठाना।

जागरूक करें : बार-बार हाथ धोना, सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क और घर की साफ-सफाई को हल्के में लेना सही नहीं है। अगर हम नियमों का पालन करें तो बीमारी खुद ब खुद कंट्रोल में आ जाएगी।

ख्याल जरूरी : सेफ्टी के साथ हमें उन लोगों का भी ध्यान रखना है जो इस बीमारी से लड़ रहे हैं, ताकि वह खुद को अनावश्यक बोझ न बढ़े और लोगों की जान भी बचाई जा सके।

भारत की हर मोर्चे पर तारीफ : भारत ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जिस तरह डिजिटल तकनीक अपनाई, WHO ने उसकी तारीफ की है। बता दें कि भारत में 15 करोड़ से ज्यादा लोगों ने आरोग्य सेतु एप डाउनलोड किया, जिससे उन्हें पहले ही खतरे की चेतावनी मिली। वहीं, इस एप के जरिए कोरोना जांच, रिजल्ट और मामलों को ट्रेक करने में भी काफी मदद मिली।