newsdog Facebook

शहद के ज्यादा सेवन से शऱीर में शूरू हो जाते है ये रोग होना

Gyan Hi Gyan 2021-01-11 20:45:42

शहद का इस्तेमाल कई चीजों में किया जाता है। साथ ही साथ इसका उपयोग आयुर्वेदिक औषधि के रूप में भी किया जाता है। इनमें उच्च रक्तचाप, सर्दी, खांसी आदि शामिल हैं। इसके अलावा शहद का उपयोग त्वचा को कोमल बनाने, रंग में सुधार, आँखों के नीचे काले घेरे हटाने के साथ-साथ अन्य प्राकृतिक उत्पादों जैसे प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र के लिए किया जाता है। ज्यादातर लोग शहद के फायदों से अवगत हैं। लेकिन आज हम आपको शहद से होने वाले नुकसान के बारे में बताएंगे। इसके साथ ही आप कहते हैं कि इसका इस्तेमाल करते समय किन बातों का ध्यान रखें।

शहद के लगातार सेवन से शरीर में फ्रुक्टोज की मात्रा बढ़ जाती है। इससे छोटी आंत पोषक तत्वों को अवशोषित करने की क्षमता खो देती है और शरीर कमजोर हो जाता है।

शहद के लंबे समय तक सेवन से शरीर में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है। अगर आप डायबिटिक हैं, तो शहद कटर की सलाह पर ही लें। फ्रक्टोज नामक तत्व पाया जाता है। यदि आप एक साथ बड़ी मात्रा में शहद का सेवन करते हैं, तो आपको फूड पॉइजनिंग की शिकायत हो सकती है, खासकर बच्चों में, यह समस्या बहुत जल्द होती है।

उबलते पानी में शहद कभी न मिलाएं, लेकिन स्वस्थ रहने के लिए और गुनगुने पानी में फिट रहने के लिए फिट रहें। यह शारीरिक फिटनेस को बढ़ाता है और प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है। लंबे समय तक घी और दही के साथ शहद रखने के बाद शरीर पर इसका विषैला प्रभाव पड़ता है। ऐसी स्थिति में कदम की एक छोटी राशि की संभावना को तुरंत समाप्त करना हमेशा उचित होता है खाना पकाने के दौरान शहद को पकाने से बचें, क्योंकि शहद में पोषक तत्व एक निश्चित तापमान तक पहुंचने पर विषाक्त प्रभाव डालना शुरू कर देते हैं।