newsdog Facebook

सोमवार के दिन भगवान शिव के इन चमत्कारिक मंत्रों से मनोकामनाएं होंगी पूरी, भोलेबाबा शीघ्र होंगे प्रसन्न

Khojmedia 2021-01-12 07:10:38

सोमवार के दिन भगवान शिव के इन चमत्कारिक मंत्रों से मनोकामनाएं होंगी पूरी, भोलेबाबा शीघ्र होंगे प्रसन्न


भगवान शिव जी अत्यंत भोले हैं, जिसकी वजह से यह अपने भक्तों से बहुत जल्द प्रसन्न हो जाते हैं। जो भक्त अपने सच्चे मन से इनको याद करता है, उनकी पुकार यह अवश्य सुनते हैं। ऐसा बताया जाता है कि जो भक्त अपनी सच्ची श्रद्धा से शिवजी की पूजा करता है, उनके ऊपर इनकी कृपा दृष्टि हमेशा बनी रहती है। सनातन धर्म में भगवान शिव जी को संहार का देवता भी माना गया है। भोलेनाथ के भक्त इनको शंकर, शिव, महादेव, आशुतोष आदि जैसे नामों से जानते हैं।

आज हम आपको भगवान शिव जी को शीघ्र प्रसन्न करने के कुछ चमत्कारिक मंत्र बताने वाले हैं। अगर आप इन मंत्रों का जाप करते हैं तो इससे देवों के देव महादेव आपकी सभी मुरादें पूरी करेंगे। भगवान शिव जी के यह चमत्कारिक मंत्र भक्तों को शिव से जोड़ता है।

भगवान शिव जी के चमत्कारिक मंत्र

1. ॐ नमः शिवाय।
नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय।।

भगवान शिव जी का यह मंत्र सबसे प्रसिद्ध मंत्र माना जाता है। ॐ नमः शिवाय मंत्र का अर्थ होता है कि “मैं भगवान शिव को नमन करता हूं”, ऐसा माना जाता है कि अगर व्यक्ति सावन के पवित्र महीने में रोजाना नियमित रूप से इस मंत्र का जाप करता है तो इससे देवों के देव महादेव जल्द प्रसन्न होते हैं। अगर शिवरात्रि के दिन इस मंत्र का 108 बार जाप किया जाए तो व्यक्ति को सभी पापों से छुटकारा मिलता है।

2. ॐ तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहि तन्नो रुद्रः प्रचोदयात।।

यह रूद्र गायत्री मंत्र है। इस रूद्र गायत्री मंत्र को बेहद शक्तिशाली माना गया है। मान्यता अनुसार यदि व्यक्ति इस मंत्र का जाप करता है तो इससे मन की शांति प्राप्त होती है, और ज्ञान का अपार प्रकाश व्यक्ति की मानसिकता को स्थिर करता है।

3. वशिष्ठेन कृतं स्तोत्रम सर्वरोग निवारणं, सर्वसंपर्काराम शीघ्रम पुत्रपौत्रादिवर्धनम।।

ऐसा माना जाता है कि इस मंत्र का जाप करने से व्यक्ति को धन की प्राप्ति होती है। जो व्यक्ति इस मंत्र का जाप करता है, उसका भविष्य बेहतर होता है। गरीबी, रोग, बुराई दूर होती है। इस मंत्र के बारे में ऐसा भी बताया जाता है कि इसका जाप करने से आपके बच्चों को रोगों से मुक्ति मिलती है और घर-परिवार में सुख-शांति बनी रहती है।

4. ॐ त्रयम्बकं यजामहे सुगंधिम पुष्टि-वर्धनम उर्वारुकमिव बन्धनं मृत्योर्मुक्षीय मामृतात।।

यह महामृत्युंजय मंत्र है। अगर व्यक्ति इस मंत्र का जाप करता है तो मृत्यु भय से मुक्ति मिलती है। इस मंत्र का जाप करने से भगवान शिव जी का विशेष आशीर्वाद बना रहता है। जीवन में खुशहाली आती है। भगवान शिव जी की कृपा से निरोगी काया प्राप्त होती है। इस मंत्र का जाप करने से व्यक्ति को आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलती है।

5. ॐ नमो भगवते रुद्राय।।

भगवान शिव जी का यह रूद्र मंत्र आपकी सभी मनोकामनाओं की पूर्ति करने की शक्ति रखता है। इस मंत्र का अर्थ होता है कि “मैं पवित्र रूद्र को नमन करता हूं।” ऐसा माना जाता है कि इस मंत्र का जाप करने से व्यक्ति को शिवजी का विशेष आशीर्वाद मिलता है।

उपरोक्त भगवान शिव जी के चमत्कारिक मंत्रों के बारे में जानकारी दी गई है। यदि व्यक्ति इन मंत्रों का जाप करता है तो जीवन की बहुत सी परेशानियां दूर होती है। भगवान शिव जी की कृपा से व्यक्ति अपना जीवन सुखी पूर्वक व्यतीत कर सकता है। अगर आप सच्चे मन से इन मंत्रों का जाप करेंगे तो आपको लाभ अवश्य प्राप्त होगा।