newsdog Facebook

महाराष्‍ट्र सरकार का बड़ा ऐलान, इन लोगों को नहीं लगेगी कोरोना वैक्‍सीन

Sanjeevni Today 2021-01-13 16:08:49

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे के मुताबिक कोविशिल्ड वैक्सीन केंद्र सरकार के प्रोटोकॉल के मुताबिक 18 वर्ष से कम उम्र के लोगों, गर्भवती औरतों एवं एलर्जी वाले लोगों को नहीं प्रदान की जाएगी।


महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे के मुताबिक 'कोविशिल्ड' वैक्सीन केंद्र सरकार के प्रोटोकॉल के मुताबिक 18 वर्ष से कम उम्र के लोगों, गर्भवती औरतों एवं एलर्जी वाले लोगों को नहीं प्रदान की जाएगी।

टोपे ने मीडियाकर्मियों को कहा, "हमने चयनित व्यक्तियों को पूर्ण दो-खुराक देने का फैसला किया है, पहली खुराक अब और दूसरी 4-6 सप्ताह के बाद दी जाएगी। हालांकि, 18 साल से कम उम्र की गर्भवती महिलाओं या एलर्जी वाले लोगों को टीका नहीं दिया जाएगा।"

उन्होंने बोला कि अब तक महाराष्ट्र को 17,50,000 की अनुमानित खुराक में से निर्माता सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, पुणे से 963,000 खुराक मिली है, जोकि राज्य सरकार के कोटा का करीबन 55 फीसदी है। बीते मंगलवार रात से ये वैक्सीन खुराक पूरे राज्य में भेजे जा रही हैं, जिसमें मुंबई, ठाणे, पुणे, कोल्हापुर, नासिक, अकोला, नागपुर एवं दूसरी जगहों पर मुख्य डिपो सम्मिलित हैं, जहां 511 नामित टीकाकरण केंद्रों को आगे वितरण हेतु रखा गया है।

कोरोना से भारत में अब तक की सर्वाधिक 11,200 मौतें देश की व्यावसायिक राजधानी में हुई है। जहां पर कोरोना टीकाकरण के 72 केंद्र तैयार किए गए हैं। बृहन्मुंबई नगर निगम आयुक्त आई.एस. चहल ने कहा, 'कोविड-19 के लिए पहला 'कोविशिल्ड' वैक्सीन बुधवार सुबह मुंबई पहुंची।' 

चहल ने बताया, "यह वैक्सीन पुणे से मुंबई में बीएमसी के एक विशेष वाहन द्वारा स्वास्थ्य अधिकारियों और पुलिस सुरक्षा के साथ लाई गई थी। स्टॉक पहले ही परेल स्थित बीएमसी एफ/साउथ डिविजनल ऑफिस पहुंच चुका है।" चहल ने कहा, "16 जनवरी को मुम्बई में टीकाकरण अभियान शुरू करना हमारे लिए संभव होगा।" अभी की योजनाओं की माने तो, मुंबई में करीबन 100 व्यक्तियों को रोजाना एवं लगभग 7,200 लोगों वैक्सीन का टीका लगाया जाएगा।

इससे पूर्व आज सवेरे, बीएमसी एफ/साउथ डिवीजन कार्यालय में नागरिक कर्मचारियों ने जयकारों, ताली, माला और 'पूजा' संग जीवन रक्षक टीके का स्वागत किया। फिर इसे केंद्र तथा राज्य सरकार के प्रोटोकॉल के अनुसार, भूतल पर तापमान नियंत्रित वैक्सीन स्ट्रांग रूम में भंडारण हेतु लिया गया।