newsdog Facebook

कोरबा: श्री राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण निधि संग्रह के लिए निकलेगी रथ यात्रा

Sanjeevni Today 2021-01-14 18:48:04

विश्व का प्राण भारत है और भारत का प्राण यहां की सनातन संस्कृति है तथा इस संस्कृति का प्रगट रूप भगवान राम है। भगवान श्री राम के श्रेष्ठ जीवन के कारण ही उन्हें मर्यादा पुरुषोत्तम की उपाधि दी गई।


विश्व का प्राण भारत है और भारत का प्राण यहां की सनातन संस्कृति है तथा इस संस्कृति का प्रगट रूप भगवान राम है। भगवान श्री राम के श्रेष्ठ जीवन के कारण ही उन्हें मर्यादा पुरुषोत्तम की उपाधि दी गई। भगवान श्री राम प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में वह दीपस्तंभ है जिसके रोशनी में मानव अपने जीवन पथ पर अग्रसर होता है। ऐसे श्रेष्ठ भगवान राम के जन्म स्थान पर भव्य मंदिर का निर्माण यह प्रत्येक राष्ट्रभक्त राम भक्तों का लक्ष्य है। श्री राम जन्मभूमि निर्माण निधि संग्रह अभियान समिति ने गुरुवार को पत्रकार वार्ता कर बताया कि लोगों को जागरूक करने के लिए समिति रथ यात्रा निकालेगी।

समिति ने कहा कि लगभग 500 वर्षों की सतत संघर्ष के पश्चात 3,70,000 जीवन के आहुति के पश्चात यह शुभ दिन आया है कि हम एक भव्य राम मंदिर का निर्माण कर सकते हैं। अतः संपूर्ण भारत ही नहीं अपितु विश्व आनंदित है कि, वह अपने दीपस्तंभ भगवान श्री राम को प्रत्यक्ष भव्य स्वरूप में स्थापित कर सकेगा। भगवान श्री राम के भव्य मंदिर के कारण, महात्मा गांधी के कहे गए वाक्य कि “भारत में रामराज्य लाना है रामराज्य पुनःस्थापित होना चाहिए ” वह स्वप्न भारत का प्रत्येक व्यक्ति भगवान राम के मंदिर को देखकर उसके चरित्र को पढ़कर ही पूर्ण कर सकता है। अतः साधु संतों के आशीर्वाद तथा श्रेष्ठ चिंतकों के मार्गदर्शन में जहां पूरा देश इस पथ पर अग्रसर हो रहा है I वही कोरबा जिला भी जिले की समिति बनाकर इस भव्य आयोजन में अपना योगदान कर रहा है । इस जागरण तथा निधि संग्रह की योजना कोरबा में भव्य बनाई गई है ।जिसके अंतर्गत कोरबा जिले की इकाई का निर्माण किया गया है। जिसके अध्यक्ष श्री अशोक तिवारी अधिवक्ता तथा मंत्री श्री विनय मोहन पाराशर घोषित किए गए हैं। जिले के नीचे कोरबा नगर इकाई उपनगर इकाई, वार्डो की समिति तथा मोहल्लों की समिति का निर्माण हो चुका है।

कोरबा जिले में जन जागरण हेतु सात रथ यात्राओं की योजना की गई है । कोरबा जिले के आदि शक्ति केंद्र चैतुरगढ़, मातीन दाई, केंदई आश्रम कोसगई दाई, मड़वारानी, चौढा रानी तथा राम कचहरी फुटका पहाड़ से यात्राएं प्रारंभ होने वाली है यह सभी यात्राएं 16 तारीख से प्रारंभ होंगी। कुछ यात्राएं अट्ठारह अथवा 19 तारीख से भी प्रारंभ होने वाली है। कोरबा जिले के लगभग 700 ग्रामों में जागरण करते हुए यह यात्राएं 23 तारीख सुभाष चंद्र बोस जयंती के दिन कोरबा नगर में प्रवेश करेंगी। कोरबा नगर के पांच द्वार सीतामढ़ी, सर्वा मंगला मंदिर, दर्री मार्केट, बालको हनुमान मंदिर तथा कोसा बाड़ी हनुमान मंदिर पर रुकेंगे। कोसा बाड़ी से घंटाघर तक भव्य शोभायात्रा निकाली जाएगी यह सभी यात्राएं घंटाघर में एकत्र होंगी जहां राष्ट्रसंत रितेश्वर महाराज जी का उद्बोधन होगा। 25 तारीख को कोरबा नगर कटघोरा पाली तथा दीपका में मात्र 1 दिन ही धन संग्रह होगा ग्रामीण क्षेत्रों में 31 तारीख को धन संग्रह किया जाएगा। यह सभी राशि अयोध्या तुरंत भेजी जाएगी। यात्रा के स्वागत हेतु कोरबा नगर में सजावट की जा रही है। ग्राम ग्राम में यात्राओं के स्वागत हेतु भव्य स्वागत द्वार घरों में बंदनवार रंगोली भजन कीर्तन के आयोजन किए गए हैं इस जागरण का कार्य का प्रारंभ 15 जनवरी से प्रारंभ हो चुका है। समिति समस्त राम भक्त तथा राष्ट्र भक्तों से निवेदन करती है कि इस भव्य राम मंदिर के निर्माण हेतु कम से कम गिलहरी के अंशदान जैसे भी हम कुछ ना कुछ दान अवश्य करें तथा अपने शक्ति से अधिक सहयोग करने का निवेदन करती है।