newsdog Facebook

Indian Railway ने चलाई 295 बोगियों वाली 3.5 किमी सबसे लंबी ट्रेन, जानिए क्या है इसकी खासियत

Rewa Riyasat 2021-02-21 18:01:59

Indian Railway ने 295 बोगियों वाली 3.5 किमी लंबी ट्रेन (Longest Train) वासुकी (Vasuki) का सफल परिचालन किया है. 3.5 किमी की इस Longest Train को खींचने के लिए Indian Railway ने इसमें 5 इंजन लगाए हैं. पांचों इंजनों के बीच बेहतर तालमेल के लिए इलेक्ट्रॉनिक सिगनल से जोड़ा गया है. इस ट्रेन का नाम रेलवे ने वासुकी (Vasuki) रखा है.

Indian Railway Longest Train Vasuki

बता दें कोरोना काल में अधिकाँश ट्रेनें बंद हैं. कुछ Special Trains ही चल रही हैं. जिसके मौके का पूरा फायदा Indian Railway उठा रहा है. इन दिनों Indian Railway द्वारा कई तरह के प्रयोग किये जा रहें हैं. हाल ही में रेलवे ने 295 बोगियों वाली 3.5 किमी लम्बी ट्रेन का सफल परिचालन किया है. यह ट्रेन छत्तीसगढ़ के भिलाई से कोरबा तक चलाई गई है.

3.5 किमी लंबी इस ट्रेन को चलाने के लिए रेलवे ने इसमें 5 इंजन लगाए थें. सभी इंजनों के बीच बेहतर तालमेल बैठ सके इसके लिए इन्हे इलेक्ट्रॉनिक सिग्नल से जोड़ा गया. ऐसी ट्रेन को चलाने के पीछे रेलवे का मुख्य मकसद कम लागत, कम समय, अधिक सुविधाओं और सुरक्षा के साथ माल ढुलाई करना है. रेलवे के इन प्रयासों से कम समय में अधिक माल पहुंचा पाने में मदद मिलेगी.

कौन थे VASUKI

हिंदू पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक वासुकी (Vasuki) भगवान शिव (Lord Shiva) के परम भक्त थे. माना जाता है कि नाग प्रजाति (Snake species) के लोगों ने ही सबसे पहले शिवलिंग की पूजा का प्रचलन शुरू किया था. नागराज वासुकी को नागलोक का राजा माना गया है. कहते हैं कि समुद्र मंथन के दौरान वासुकी नाग को ही रस्सी के रूप में मेरु पर्वत के चारों ओर लपेटकर मंथन किया गया था.

इससे पहले चलाई थी शेषनाग और एनकोंडा

रेलवे ने इससे पहले भारत में सबसे लंबी ट्रेन शेषनाग (Sheshnag Train) के नाम पर चलाई गई थी. चार ट्रेनों को जोड़कर इसे चलाया गया था. शेषनाग से पहले तीन ट्रेनों को जोड़कर एनाकोंडा ट्रेन (Anaconda train) चलाई गई थी और अब वासुकी नाग ट्रेन चली है. मालगाड़ी के लिए अलग से डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर बनाया गया है. दावा किया जा रहा है कि उस पर डेढ़ किलोमीटर लंबी ट्रेन चलेगी.

गंगा का जल कभी भी बढ़ सकता है, नाव चलाने पर लगी रोक, प्रशासन ने किया अलर्ट

यहाँ क्लिक कर RewaRiyasat.Com Official Facebook Page Like