newsdog Facebook

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बोलीं, पेट्रोल-डीजल के दाम सरकार के हाथ में नहीं तो कुमार विश्वास ने यूं मारा ताना

Jansatta 2021-02-22 11:59:37
कुमार विश्वास ने साधा निशाना

पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों को लेकर जनता काफी परेशान है। जहां एक तरफ पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोतरी हो रही है, वहीं, दूसरी ओर रसोई गैस के दाम भी लगातार उछाल पर हैं। सरकार ने रसोई गैस की सब्सिडी खत्म कर दी है, जिससे लोगों की जेब पर अतिरिक्त भार पड़ रहा है। हाल ही में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि तेल की कीमतों पर सरकार का कोई नियंत्रण नहीं है। क्योंकि तेल कंपनियां कच्चे तेल का आयात करती हैं।

निर्मला सीतरमण (Nirmala Sitharaman Twitter) के इस बयान पर मशहूर कवि कुमार विश्वास (Kumar Vishwas) का रिएक्शन आया है। कुमार विश्वास ने वित्त मंत्री का वीडियो अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर करते तंज कसा है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, “ईश्वरीय कृपा (बोले तो एक्ट ऑप गॉड).” कुमार विश्वार के इस ट्वीट पर लोग खूब कमेंट कर रहे हैं और अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

बता दें, कुमार विश्वास आम आदमी पार्टी की ओर से राजनेता रह चुके हैं। वह अक्सर समसामयिक मुद्दे पर बेबाकी से अपनी बात रखते हैं। वहीं, निर्मला सीतारमण की बात करें, तो उन्होंने अपने बयान में कहा था, “पेट्रोल और डीजल की बढ़ी कीमतों का मुद्दा एक ऐसा मुद्दा है,

ईश्वरीय कृपा (बोले तो Act Of God) https://t.co/QJUnNmPHpg

— Dr Kumar Vishvas (@DrKumarVishwas) February 21, 2021


 

“जिसमें कीमत में कटौती के अलावा कोई भी उत्तर जनता को संतुष्ट नहीं कर पाएगा. इसलिए सच्चाई सामने लाने के लिए मैं जो भी कहूं, उसमें लोग यही कहेंगे कि मैं उत्तर देने से बच रही हूं.”

निर्मला सीतारमण ने आगे कहा, “सरकार का पेट्रोल की कीमत पर कोई नियंत्रण नहीं है, तेल कंपनियां कच्चे तेल का आयात करती हैं, रिफाइन करती हैं और फिर उसे वितरित करती हैं।” बता दें, तेल की बढ़ती कीमतों को लेकर विपक्षी पार्टियां लगातार सरकार का विरोध कर रही हैं। राजस्थान कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने राजधानी जयपुर में पैदल मार्च के दौरान पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर सरकार पर हमला बोला था।

वहीं, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर सरकार पर तंज कसा था। उन्होंने पेट्रोलियम उत्पादों के दाम में बढ़तोरी को लेकर कहा था, “महंगाई का विकास!” लगातार हो रहे इस विरोध से देखा जा सकता है कि बढ़ती महंगाई को लेकर सरकार विपक्षी पार्टियों और जनता के बीच घिरती नजर आ रही है।

एक क्‍लिक पर इनबॉक्‍स में मिलेंगी जनसत्‍ता की खबरें, ईमेल टाइप कर क्‍लिक करें सब्‍स्‍क्राइब बटन