newsdog Facebook

कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने फिर दिया किसानों को बातचीत का न्योता

indiahallabol.com 2021-02-22 12:16:44

केंद्र सरकार ने फिर किसानों को बातचीत का न्योता दिया है। हालांकि कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने साफ कहा है कि भीड़ जुटाने से कानून नहीं बदला करते। साथ ही कृषि मंत्री ने कहा कि किसान यूनियन बताएं कि इन कानूनों में किसानों के खिलाफ क्या है? सरकार कानून में संशोधन करने को तैयार है।

मध्यप्रदेश में प्रत्रकारों से बात करते हुए केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि केन्द्र सरकार ने संवेदनशीलता के साथ किसान संगठनों से 12 दौर की बातचीत की है, लेकिन बातचीत का निर्णय तब होता है, जब आपत्ति बताई जाए। सीधा कहोगे कानून हटा दो। ऐसा नहीं होता है कि कोई भीड़ इकट्ठा हो जाए और कानून हट जाए।

साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार कृषि कानूनों में संशोधन के लिए तैयार है नरेंद्र सिंह तोमर ने आगे कहा कि किसान संगठन बताएं कि इन नए कानूनों में किसान के खिलाफ क्या है? लेकिन भीड़ एकत्र करने से कानून नहीं बदलता है।

तोमर ने कहा कि किसान संगठन यह तो बताएं कि आखिर कौन से प्रावधान हैं जो किसानों के खिलाफ हैं? इसे सरकार समझने को तैयार है और संशोधन करने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि किसान के हितों के मुद्दे पर सरकार आज भी संशोधन करने को तैयार है और इस बारे में तो स्वयं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी कह चुके हैं।

आपको बता दें कि खुद प्रधानमंत्री मोदी किसानों से कृषि कानून पर चर्चा और इसमें बदलाव की बात कह चुके हैं। उन्होंने कहा कि पुरानी मंडियों पर भी कोई पाबंदी नहीं है। इतना ही नहीं इस बजट में इन मंडियों को आधुनिक बनाने के लिए और बजट की व्यवस्था की गई है।

प्रधानमंत्री का कहना है कि कानून लागू होने के बाद न देश में कोई मंडी बंद हुई, न एमएसपी बंद हुआ। ये सच्चाई है। इतना ही नहीं ये कानून बनने के बाद एमएसपी पर खरीद भी बढ़ी है। उन्होंने प्रदर्शन कर रहे किसानों से अपील की, ‘आइये, बातचीत की टेबल पर बैठकर चर्चा करें और समाधान निकालें।