newsdog Facebook

Puducherry Floor Test: बहुमत साबित नहीं कर पाए वी नारायणसामी, पुडुचेरी में गिरी कांग्रेस सरकार

Financial Express Hindi 2021-02-22 12:00:00
Puducherry Assembly Floor Test: पुडुचेरी में सीएम वी नारायणसामी विधानसभा में विश्वास मत साबित नहीं कर पाए.

पुडुचेरी विधानसभा में कांग्रेस अपना बहुमत साबित नहीं कर पाई है. सीएम वी नारायणसामी विधानसभा में विश्वास मत साबित नहीं कर पाए और चुनाव से कुछ दिन पहले ही अब उनकी सरकार गिर गई है. सोमवार को स्पीकर ने ऐलान किया कि सरकार के पास बहुमत नहीं है. हालांकि, फ्लोर टेस्ट से पहले मुख्यमंत्री नारायणसामी दावा करते रहे कि उनके पास निर्वाचित विधायकों में से बहुमत है. विधानसभा की वर्तमान स्थिति के मुताबिक उसे बहुमत के लिए 14 विधायकों का समर्थन चाहिए. फिलहाल विश्वास मत साबित न कर पाने के बाद मुख्यमंत्री वी नारायणसामी ने इस्तीफे की घोषणा करते हुए कहा कि हमने उपराज्यपाल को त्याग पत्र सौंप दिया है. उपराज्यपाल के निर्देशानुसार वोटों की गिनती हाथ उठवाकर की गई और विधानसभा की पूरी कार्यवाही की रिकॉर्डिंग हुई.

रविवार को ही बढ़ गया था संकट

बता दें कि पुडुचेरी में सोमवार को विधानसभा में होने वाले शक्ति परीक्षण से पहले सत्तारूढ़ कांग्रेस-द्रमुक गठबंधन के दो और विधायकों ने रविवार को इस्तीफा दे दिया था. कांग्रेस के के. लक्ष्मीनारायणन और द्रमुक के वेंकटेशन के इस्तीफा दे देने से सत्तारूढ़ गठबंधन समर्थक विधायकों की संख्या घटकर 11 हो गई है जबकि विपक्ष के 14 विधायक हैं. विधानसभा में कांग्रेस के पास उसके 9 विधायकों के अलावा 2 डीएमके और एक निर्दलीय विधायक का समर्थन है. यानी कांग्रेस के पास 11 विधायकों (स्पीकर को लेकर 12) का समर्थन ही रह गया.

पूर्व उपराज्यपाल पर आरोप

विश्वास मत साबित करने से पहले मुख्यमंत्री ने पूर्व उपराज्यपाल किरण बेदी पर उनकी सरकार के कामों को विफल करने और विपक्ष के साथ मिलकर सरकार बनाने की कोशिश करने का आरोप लगाया था. नारायणसामी ने कहा कि हमारे विधायक एकजुट थे, हम पिछले 5 साल से शांति पूर्वक सरकार चलाने में सफल रहे.

उन्होंने कहा कि हमने द्रमुक (DMK) और निर्दलीय विधायकों के समर्थन से सरकार बनाई. उसके बाद, हमने कई चुनावों का सामना किया. हमने सभी उपचुनाव जीते हैं. जिससे यह साफ होता है कि पुडुचेरी के लोग हम पर भरोसा करते हैं.

विधानसभा की गणित

33 सदस्यीय पुडुचेरी विधानसभा में 30 सदस्य निर्वाचित और 3 सदस्य केंद्र सरकार की ओर से मनोनित होते हैं. 2016 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 15 सीटें जीती थीं. एक विधायक को पार्टी द्वारा पिछले साल दलबदल विरोधी कानून के तहत अयोग्य घोषित किया गया था. इसके अलावा 5 विधायक अब तक इस्तीफा दे चुके हैं. डीएमके के तीन विधायक थे, लेकिन 1 ने रविवार को इस्तीफा दे दिया था.

6 विधायकों के इस्तीफे और एक अयोग्यता के बाद पुडुचेरी विधानसभा की संख्या 26 है. विपक्षी दल AINRC के पास अभी 7 विधायक, AIADMK के पास 4 विधायक हैं. वहीं, बीजेपी के पास 3 मनोनित विधायक हैं. यानी सरकार के समर्थन में 12 विधायक (स्पीकर को लेकर) हैं, जबकि विपक्ष में 14 विधायक हैं.



Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.