newsdog Facebook

डॉ. अजय चौटाला, दुष्यंत चौटाला व दिग्विजय ने संघर्ष स्थल जाकर ताऊ देवीलाल को किया नमन

Tatkal News 2021-04-06 02:22:00

नई दिल्ली/चंडीगढ़, 6 अप्रैल। भारत के भूतपूर्व उप-प्रधानमंत्री एवं गरीब किसान, कमेरे वर्ग के मसीहा जननायक स्व. चौधरी ताऊ देवीलाल जी की पुण्यतिथि के अवसर जननायक जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अजय सिंह चौटाला, हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला और  इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने उन्हें याद करते हुए नमन किया है। वे मंगलवार को ताऊ के अनुयायियों के साथ दिल्ली स्थित संघर्ष स्थल पर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने जननायक चौ. देवीलाल जी की समाधि पर पुष्प अर्पित करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि भेंट की।

 

इस अवसर पर जेजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अजय सिंह चौटाला ने चौधरी देवीलाल को नमन करते हुए कहा कि ताउम्र उन्होंने किसान-कमेरे वर्ग के लिए संघर्ष किया। उन्होंने कहा कि ऐसे महान पुरुष के दिखाए हुए रास्ते पर आज देश आगे बढ़ रहा है। जेजेपी की बुनियाद भी उनकी विचारधारा पर रखी गई हैं। डॉ चौटाला ने कहा कि ताऊ देवीलाल ने सरकार में अवसर मिलने पर किसान-कमेरे वर्ग को तमाम सुविधाएं उपलब्ध करवाई और आज उनके नक्शे कदम पर चलते हुए हमारा भी यही निरंतर प्रयास है। उन्होंने कहा कि हरियाणा की गठबंधन सरकार की तरफ से किसानों को किसी प्रकार की कोई असुविधा नहीं होने दी जा रही है। अजय चौटाला ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा किसानों को उनकी फसलों का उचित दाम, ज्यादा फसलों पर एमएससी दिलाने, उनकी फसल की बेहतर खरीद जैसे तमाम कार्य कर रही है। 

   

ताऊ देवीलाल की जनकल्याणकारी नीतियों का आज देशभर में अनुसरण हो रहा – डिप्टी सीएम

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने ताऊ देवीलाल को नमन करते हुए कहा कि जननायक स्व. चौ. देवीलाल जी को हमारे बीच में से गए करीब 20 साल हो गए हैं। उन्होंने कहा कि इस दो दशक के सफर में देशभर में आज उनकी नीतियों और सोच के चलते पूरा देश उन्हें श्रद्धाभाव से गरीब किसान, कमेरे वर्ग के मसीहा के रूप में याद करता हैं। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि देश में राजनीति और सामाजिक बदलाव लाने में उनकी बड़ी अहम भूमिका रही हैं। उन्होंने कहा कि कमेरे वर्ग के बेटे को तख्त तक पहुंचा कर ताज पहनाने का ऐतिहासिक काम भी उन्होंने किया इसीलिए आज उनमें आस्था रखते हुए लोग उनकी विचारधारा पर चल रहे है। डिप्टी सीएम ने आह्वान किया कि आज की युवा पीढ़ी को चौधरी देवीलाल जी के संघर्षों व बदलावों के बारे में जरूर जानना चाहिए।

 

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि चौधरी देवीलाल की जनकल्याणकारी नीतियों का आज देशभर में अनुसरण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उनकी काम के बदले अनाज देने की योजना आज मनरेगा योजना के रूप चल रही है। इसी तरह जच्चा बच्चा योजना मातृत्व योजना के तौर पर अनुसरण हो रही है। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि चौधरी देवीलाल ने हरियाणा में बुजुर्गों के सम्मान में बुढ़ापा पेंशन का पौधा लगाया था जो कि आज देशभर के विभिन्न प्रांतों में चालु है।


हिसार में पानी के टैंकर और किसान आंदोलन से संबंधित पत्रकारों के सवालों के जवाब में दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कुछ चुनिंदा लोग ही ऐसी हरकतें कर रहे है। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि बतौर सांसद उन्होंने अपने लोकसभा क्षेत्र हिसार में 250 से ज्यादा पानी के टैंकर उपलब्ध करवाए थे और अब भी उनका यही प्रयास है कि हर गांव तक मूलभूत सुविधाएं पहुंचाने का काम किया जाए।


प्रदेश की फसल खरीद प्रक्रिया के बारे में उन्होंने कहा कि आज राज्य सरकार किसानों को एक नहीं बल्कि छह फसलों पर एमएसपी (न्यूतम समर्थन मूल्य) दे रही है। डिप्टी सीएम ने कहा कि अब तक प्रदेश की मंडियों में एक लाख मीट्रिक टन से ज्यादा गेहूं आया है, जिसे सरकार ने पूरी तरह से खरीदा है। उन्होंने कहा कि किसान की फसल को अच्छे तरीके से  खरीद कर उसका जल्द से जल्द उठान करवाकर सीधा किसानों के खाते में भुगतान करना हमारा उद्देश्य है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जननायक चौधरी देवीलाल जी का भी यही सपना था कि किसानों को उनकी फसल का पूरा हक सीधा उन्हें मिले, जिसे प्रदेश सरकार किसानों के खाते में सीधा भुगतान करके पूरा कर रही है।

 

वहीं उपमुख्यमंत्री ने दोहराते हुए आंदोलनरत किसान संगठन नेताओं से अपील की कि सरकार से चर्चा के लिए उन्हें आगे आना चाहिए क्योंकि केंद्र सरकार के निरंतर चर्चा के लिए रास्ते खुले है। उन्होंने कहा कि किसान नेताओं द्वारा वार्ता से दूर होना ये दर्शाता है कि उनकी मंशा किसानी को मजबूत करने की नहीं है। एक अन्य सवाल के जवाब में डिप्टी सीएम ने यह भी कहा कि अगर आंदोलन का नेतृत्व करने वाले 40 किसान नेता केंद्र से वार्ता के लिए तैयार होते है तो उनकी तरफ से हरसंभव सहयोग किया जाएगा। 

 

 

इस अवसर पार्टी के वरिष्ठ नेता अनंतराम तंवर, राष्ट्रीय कार्यकारणी के सदस्य दिनेश डागर, दलबीर धनखड़, महेश चौहान, वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मंत्री हर्ष कुमार, पूर्व विधयक गंगा राम, धर्म देव सोलंकी, सुखबीर दलाल, सूबे सिंह बोहरा, राजा राम ठाकुर, ऋषि राज राणा, सुरिंदर ठाकरान, दिल्ली जेजेपी प्रदेशाध्यक्ष ओम प्रकाश सेहरावत,हेम चन्दर भट्ट, महाबीर डबास, गोपाल मोर, प्रदीप शौकीन, पंकज गोदारा आदि ने भी संघर्ष स्थल पर ताऊ देवीलाल को नमन किया।