newsdog Facebook

सिंगापुर में 8 हजार भारतीयों की एंट्री बैन, 11 हजार लोगों की जा सकती है नौकरी

Punjab Kesari 2021-04-08 12:28:33

सिंगापुर ने 8 हजार भारतीय नागरिकों की एंट्री पर बैन लगा दिया है। सिंगापुर की सरकार पिछले साल कोरोना महामारी के बाद ...


इंटरनेशनल डेस्कः  सिंगापुर ने 8 हजार भारतीय नागरिकों की एंट्री पर बैन लगा दिया है। सिंगापुर की सरकार पिछले साल कोरोना महामारी के बाद भारत लौटे वर्क प्रोफेशन को वीजा जारी नहीं कर रही है। कोरोना के चलते सिंगापुर में काम कर रहे 11 हजार लोगों की नौकरी भी जा सकती है। इनमें 7 हजार भारतीय हैं। वहां के श्रमिक विभाग ने आदेश जारी किया है कि नौकरी कर रहे दूसरे देश के लोगों को 1 मई तक वर्क परमिट लेना ही होगा। परमिट तभी मिलेगा, जब कंपनी के पास विदेशी वर्कर्स का कोटा हो। इस आदेश के पीछे सिंगापुर सरकार की मंशा लोकल लोगों को ज्यादा से ज्यादा रोजगार मुहैया कराना बताई जा रही है।

 

उधर, कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए न्यूजीलैंड ने भारत से आने वाले यात्रियों पर अस्थाई बैन लगा दिया है। ये बैन 11 अप्रैल से   28 अप्रैल तक रहेगा। न्यूजीलैंड की सरकार का कहना है कि पिछले 24 घंटे में वहां कोरोना के 23 मरीज सामने आए। इनमें से 17 भारत से न्यूजीलैंड लौटे थे। 
न्यूजीलैंड में पिछले कुछ दिनों के अंदर कोरोना के 2,531 नए केस सामने आए हैं। प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने कहा कि भारत से आने वाले यात्रियों में कोरोना के मामले सामने आ रहे थे। इसलिए ये अस्थाई बैन लगाया गया है। न्यूजीलैंड के नागरिकों पर भी ये लागू होगा। हमारी सरकार ऐसे और देशों पर भी नजर बनाए है, जहां कोरोना के केस तेज से बढ़ रहे हैं। अगर जरूरत पड़ी तो दूसरे देशों से आने वाले यात्रियों पर भी बैन ल गाया जाएगा।

 

 
बता दें कि भारत में बुधवार को रिकॉर्ड 1 लाख 26 हजार 265 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए। पिछले साल महामारी शुरू होने के बाद से अब तक ये पहली बार है, जब एक दिन के अंदर इतने लोग संक्रमण की चपेट में आए हैं। इसके पहले 6 अप्रैल को एक दिन के अंदर 1.15 लाख लोग कोरोना पॉजिटिव मिले थे। बुधवार को 684 मरीजों की मौत भी हो गई और 59 हजार 129 लोग रिकवर हुए। इसी के साथ कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा अब 1.29 करोड़ से अधिक हो गया है। इनमें 1.18 करोड़ लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 1.66 लाख मरीजों की मौत हो गई। 9 लाख 5 हजार मरीज ऐसे हैं जिनका इलाज चल रहा है।