newsdog Facebook

Remdesivir Crisis : अगले पखवाड़े के अंत तक Remdesivir की कमी का संकट होगा समाप्त

nayaindia.com 2021-05-01 00:00:00

नई दिल्ली | देश में Kovid संबंधित दवाओं की भारी कमी है और इसकी Black Marketing को देखते हुए, देश के शीर्ष केमिस्ट बॉडी ने आश्वासन दिया है कि विनिर्माण कंपनियों से महत्वपूर्ण जीवन रक्षक दवाओं की आपूर्ति में भारी वृद्धि होगी और भारत में अगले पखवाड़े तक यह संकट समाप्त हो जाएगा। देश भर के 9.50 लाख से अधिक केमिस्टों का प्रतिनिधित्व करने वाले ऑल इंडिया ऑगेर्नाइजेशन ऑफ केमिस्ट्स एंड ड्रगिस्ट्स (AIOCD) के सचिव, राजदीप सिंघल ने कहा, Kovid के रोगियों के इलाज से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण दवाओं की मांग में अभूतपूर्व उछाल आया है।

अब सिप्ला या कैडिला जैसी कंपनियों ने शीशियों का उत्पादन बढ़ा दिया है। हम वादा करते हैं कि आपूर्ति पर्याप्त होगी।  गंभीर रूप से बीमार Kovid रोगियों के लिए जीवन रक्षक दवा Remdesivir की आपूर्ति में कमी और देरी का कारण बताते हुए, J.S. AIOCD के अध्यक्ष जे.एस. शिंदे ने कहा कि इस दवा के एक ही बैच के उत्पादन में लगभग 15 से 16 दिन लगते हैं।

उन्होंने कहा, Remdesivir का तुरंत उत्पादन नहीं किया जा सकता है। इसके उत्पादन में 15 दिनों का साइकिल और पैकेजिंग और रोल आउट में 3 से 4 दिन लग जाते हैं। लेकिन अब कई निर्माताओं (लगभग 7 से 8) को लाइसेंस मिला है। इससे उत्पादन में तेजी आएगी। वर्तमान में Remdesivir का वितरण संबंधित निमार्ताओं से इसके वितरकों के लिए है। यह स्टॉक राज्य सरकार की देखरेख में वितरकों से सीधे अस्पतालों में जाता है। आपूर्ति की इस श्रृंखला में केमिस्ट शामिल नहीं हैं, इसलिए उन्हें जमाखोरी के लिए दोषी नहीं ठहराया जा सकता।

राजीव सिंघल ने गंभीर Kovid रोगियों के लिए जीवन रक्षक दवाओं की बड़े पैमाने पर आवश्यकता के बारे में बताते हुए कहा कि भारत में लगभग 3.75 लाख के दैनिक मामलों को ध्यान में रखते हुए, कम से कम 70,000 रोगियों को Remdesivir इंजेक्शन की आवश्यकता होगी।

इसे भी पढ़ें :-UP News : गौतम बुद्ध नगर जिले में 182 पुलिसकर्मी कोरोना वायरस से संक्रमित

AIOCD के महासचिव ने कहा, जैसा कि प्रत्येक रोगी को 6 शीशियों की आवश्यकता होती है, देश को हर दिन 4 लाख से अधिक Remdesivir इंजेक्शनों की आवश्यकता होगी। हमें उम्मीद है कि ज्यादातर निमार्ताओं ने अपने उत्पादन में तेजी ला दी है, Remdesivir की कम आपूर्ति का संकट खत्म हो जाएगा।

इसे भी पढ़ें :-Assembly Election : तमिलनाडु, पुडुचेरी में उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला कल