newsdog Facebook

निरंजनी अखाड़े के ब्रह्मलीन संतों को दी श्रद्धांजलि

5 Dariya News 2021-05-03 18:49:46

प्राचीन हनुमान मंदिर के महंत रविपुरी महाराज ने कहा कि निरंजनी अखाड़े के संतों का ब्रह्मलीन होना अखाड़े के लिए अपूरणीय क्षति है। जिसे कभी पूरा नहीं किया जा सकता।  हनुमान घाट पर  कोरोना से ब्रह्मलीन हुए पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के संतों को गंगा में पुष्पांजलि अर्पित कर भावपूर्ण श्रद्धांजलि देते हुए महंत रविपुरी महाराज ने कहा कि कोरोना से ब्रह्मलीन हुए संतों का सनातन धर्म व भारतीय संस्कृति को आगे बढ़ाने में विशेष योगदान रहा है। उनके योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकेगा। मां गंगा सभी ब्रह्मलीन संतों को अपने श्रीचरणों में स्थान दे। नवीन कुमार व सचिन कुमार ने कहा कि संतों के निधन से अखाड़े को जो क्षति हुई है। उसे कभी पूरा नहीं किया जा सकता। निधन चाहे संत का हो या आम व्यक्ति का। समाज के लिए अपूर्णीय क्षति है। इस विकट संकट में सभी को सरकार की गाइडलाइन का पालन करते हुए सावधानी बरतनी चाहिए। सभी इस संकट से देश को जल्दी से जल्दी उबारने के लिए भगवान से ज्यादा से ज्यादा प्रार्थना करें। श्रद्धांजलि देने वालों में अंकित पुरी, पंडित राजीव डंडरियाल, नवीन कुमार, सचिन कुमार, अर्जुन कश्यप, भारत भूषण आदि शामिल रहे।